holi geet

ये शहीदों की जयहिन्द बोली, ऐसी वैसी ये बोली नहीं है इनके माथें पे खून का टीका, देखो देखो ये रोली नहीं है ||ध्रु || सर कटाऊँ जवानों को लेकर, चल पड़े वह हमीरा के आगे हम है संतान राणा शिवा की, कायरों की ये टोली नहीं है।।1।। चल दिया जब जवाँ हँसते-हँसते, माँ की […]

Read More