राष्ट्र की जय चेतना का गान वन्देमातरम् Lyrics Hindi & English (Download)

राष्ट्र की जय चेतना का.. RSS Geet Rashtra Ki Jay Chetana Ka Gaan Vande Mataram,
Rashtra Bhakti Prerna Ka Gaan Vandemataram mp3 song and video free download.

राष्ट्र की जय चेतना का गान वन्देमातरम्। राष्ट्र भक्ति प्रेरणा का गान वन्देमातरम्… गीत

Rashtra ki Jai Chetna ka Gaan Vande Mataram RSS Geet in Hindi

राष्ट्र की जय चेतना का गान वन्देमातरम्।
राष्ट्र भक्ति प्रेरणा का गान वन्देमातरम्
वन्देमातरम् वन्देमातरम् वन्देमातरम् वन्देमातरम् ।।ध्रु.।।

वंशी के बहते स्वरों का प्राण वन्देमातरम्।
झल्लरी झनकार झनके नाद वन्देमातरम्।
शंख के संघोष का संदेश वन्देमातरम्।।1।। राष्ट्र भक्ति प्रेरणा का……

सृष्टि बीज मंत्र का है मर्म वन्देमातरम्।
राम के वनवास का है काव्य वन्देमातरम्।
दिव्य गीता ज्ञान का संगीत वन्देमातरम्।।2।। राष्ट्र भक्ति प्रेरणा का……

हल्दीघाटी के कणों में व्याप्त वन्देमातरम्।
दिव्य जौहर ज्वाल का है तेज वन्देमातरम्।
वीरों के बलिदान की हुंकार वन्देमातरम्।।3।। राष्ट्र भक्ति प्रेरणा का……

जन-जन के हर कण्ठ का हो गान वन्देमातरम्।
अरिदल थर-थर काँपे सुनकर नाद वन्देमातरम्।
वीर पुत्रों की अमर ललकार वन्दे मातरम्।।4।। राष्ट्र भक्ति प्रेरणा का……
।।समाप्त।।

विशेष
  • यह गीत ज्ञान गंगा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित संघ गीत पुस्तिका के 18वें संस्करण के क्रम संख्या- 01 पृष्ठ क्रमांक- 05 पर अंकित है। गीत की लय के लिए गीत गंगा की वेब साइट पर भी विजिट कर सकते है।

Rashtra ki Jai Chetna ka Gaan Vande Mataram Song Video Download

इस राष्ट्रभक्ति से ओत प्रोत संघ की शाखाओं पर होने वाले गीत से बाल, तरूण और वृद्ध सभी को प्रेरणा मिलती हैं। राष्ट्र की जय चेतना का गान गीत का अत्यन्त सुन्दर विडियो देखने व डाउनलोड़ करने के लिए निचे दिये गये विडियों पर क्लिक करें :-

Rashtra ki Jay Chetna Song Lyrics in English

Rashtra Ki Jay Chetana Ka Gaan Vandemataram.
Rashtra Bhakti Prerna Ka Gaan Vandemataram
Vandemataram Vandemataram Vandemataram Vandemataram 
[Dhruv.]

Vanshi Ke Bahate Swaron Ka Praan Vandemaataram.
Jhallari Jhanakar Jhanake Naad Vandematram.
Shankh Ke Sanghosh Ka Sandesh Vandemataram [1] Rashtra Bhakti Prerna Ka…

Shrishti Beej Mantra Ka Hai Marm Vandemataram.
Raam Ke Vanavas Ka Hai Kavy Vandemataram.
Divy Geeta Gyan Ka Sangeet Vandemataram [2] Rashtra Bhakti Prerna Ka…

HaldiGhati Ke Kanon Mein Vyapt Vandemataram.
Divy Jauhar Jvaal Ka Hai Tej Vandemaatram.
Veeron Ke Balidaan Ki Hunkaar Vandemataram [3] Rashtra Bhakti Prerna Ka…

iJan-Jan Ke Har Kanth Ka Ho Gaan Vandemataram.
Aridal Thar-Thar Kaanpe Sunkar Naad Vandemataram.
Veer Putron Ki Amar Lalkaar Vande Mataram [4] Rashtra Bhakti Prerana Ka…[THE END]

Rashtra ki Jai Chetna ka Gaan Vande Mataram pdf
Note
  • RSS Rashtra Jagran Geet “Rashtra ki Jay Chetna ka Gan Vande Mataram” mp3 song for free download. We will provide you an HD quality mp3 download link as soon as possible.
ऐसे और अच्छे-अच्छे गीतों की जानकारी के लिए जुडे़ रहिये RSS WORLD WIDE .COM से धन्यवाद...

हिन्दू जगे तो विश्व जगेगा Song Lyrics In Hindi & English (Download)

हिन्दू जगे तो विश्व जगेगा… RSS Geet Hindu Jage To Vishv Jagega, Maanav ka Vishvaas jagega mp3 song and video free download & get Lyrics in Hindi & English.

हिन्दू जगे तो विश्व जगेगा, मानव का विश्वास जगेगा… गीत

Hindu Jage To Vishva Jagega RSS Geet in Hindi

हिन्दू जगे तो विश्व जगेगा, मानव का विश्वास जगेगा।
भेदभावना तमस हटेगा, समरसता अमृत बरसेगा।
हिन्दू जगेगा, विश्व जगेगा।।ध्रु.।।

हर हिन्दू सदा से विश्व बन्धु है जड़ चेतन अपना माना है।
मानव पशु तरु गिरि सरिता में एक ब्रह्म को पहिचाना है।
जो चाहे जिस पथ से आये साधक केन्द्र बिन्दु पहुँचेगा।।1।। हिन्दू जगेगा……

इसी सत्य को विविध पक्ष से वेदों में हमने गाया था।
निकट बिठाकर इसी तत्व को उपनिषदों में समझाया था।
मंदिर मठ गुरुद्वारे जाकर यही ज्ञान सत्संग मिलेगा।।2।। हिन्दू जगेगा……

हिन्दू धर्म वह सिन्धु अतल है जिसमें सब धारा मिलती है।
धर्म अर्थ अरु काम मोक्ष की किरणें लहर-लहर खिलती है।
इसी पूर्ण में पूर्ण जगत का जीवन मधु सम्पूर्ण फलेगा।।3।। हिन्दू जगेगा……

इस पावन हिन्दुत्व सुधा की रक्षा प्राणों से करनी है।
जग को आर्य शील की शिक्षा निज जीवन से सिखलानी है।
द्वेष क्लेष भय सभी हटायें पान्चजन्य फिर से गुंजेगा।।4।। हिन्दू जगेगा……
।।समाप्त।।

विशेष
  • यह गीत ज्ञान गंगा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित संघ गीत पुस्तिका के 18वें संस्करण के क्रम संख्या- 85 पृष्ठ क्रमांक- 92 पर अंकित है। गीत की लय के लिए गीत गंगा की वेब साइट पर भी विजिट कर सकते है।

Hindu Jage To Vishv Jagega Song Video Download

इस देशभक्ति से ओत प्रोत संघ की शाखाओं पर होने वाले गीत से बाल, तरूण और वृद्ध सभी को प्रेरणा मिलती हैं। हिन्दू जगे तो विश्व जगेगा गीत का अत्यन्त सुन्दर विडियो देखने व डाउनलोड़ करने के लिए निचे दिये गये विडियों पर क्लिक करें :-

Hindu Jage To Vishv Jagega Geet Lyrics in English

Hindu Jage To Vishv Jagega, Maanav ka Vishvaas jagega.
Bhedabhaavana Tamas Hatega, Samarasata Amrt Barasega.
Hindu Jagega, Vishv Jagega 
[Dhruv.]

Hindu Sada Se Vishva Bandhu Hai Jad Chetan Apna Maana Hai.
Maanav Pashu Taru Giri Sarita Mein Ek Brahm Ko Pahichaana Hai.
Jo Chaahe Jis Path Se Aaye Saadhak Kendr Bindu Pahunchega [1] Hindu Jagega…

isee Saty Ko Vividh Paksh Se Vedon Mein Hamane Gaaya Tha.
Nikat Bithaakar isee Tatv Ko Upanishadon Mein Samajhaaya Tha.
Mandir Math Gurudware Jaakar Yahee Gyaan Satsang Milega [2] Hindu Jagega…

Hindu Dharm Vah Sindhu Atal Hai Jisamen Sab Dhaara Milatee Hai.
Dharm Arth Aru Kaam Moksh Ki Kiranen Lahar-Lahar Khilatee Hai.
isee Poorn Mein Purn Jagat Ka Jeevan Madhu Sampoorn Phalega [3] Hindu Jagega…

is Pavan Hindutv Sudha Kee Raksha Praanon Se Karanee Hai.
Jag Ko Aary Sheel Ki Shiksha Nij Jeevan Se Sikhalaanee Hai.
Dvesh Klesh Bhay Sabhee Hataayen Paanchajany Phir Se Gunjega [4] Hindu Jagega…[THE END]

Hindu Jage To Vishva Jagega Sangh Geet Lyrics
Note
  • RSS Hindu Jagran Geet “Hindu Jage To Vishv Jagega” mp3 song for free download. We will provide you an HD quality mp3 download link as soon as possible.

मकर संक्रांति उत्सव गीत (Makar Sankranti Song) RSS

इस हिन्दू जागरण गीत को विशेष उत्सवों, कार्यक्रमों एवं दैनिक संघ की शाखा पर भी गाया जाता है। परन्तु इस गीत को अधिकांशतः एकल गीत (भाव गीत या काव्य गीत) के रूप में मकर संक्रांति उत्सव पर गया जाता है।

इस गीत के अतिरिक्त निम्न (Makar Sankranti Geet) गीत भी मकर संक्रांति के उत्सव पर करवाए जाते है :-

  1. अरूणोदय हो चुका वीर…
  2. करवट बदल रहा है देखो, भारत का…
  3. हिम शीत गया है बीत किन्तु…
  4. लक्ष्य तक पहुँचे बिना पथ में पथिक…
ऐसे और अच्छे-अच्छे गीतों की जानकारी के लिए जुडे़ रहिये RSS WORLD WIDE .COM से धन्यवाद...

राम जी की सेना चली Full Song Lyrics – Mp3 and Video Download

राम जी की सेना चली Full Song Lyrics with Ravindra Jain Bhajan

राम जी की सेना चली… इस गीत को सर्वप्रथम स्व.श्री रविन्द्र जैन जी के श्रीमुख से रामायण धारावाहिक में भजन के रूप में संपूर्ण भारतवर्ष ने सुना। इस गीत को संघ में पथ संचलन के समय भी कदम से कदम मिलाकर चलने हेतु गाया जाता है इसलिए इसे संचलन गीत भी कहा जाता हैं। आपके अभ्यास हेतु इस गीत के लिरिक्स एवं विडियों उपलब्ध कराने का छोटा सा प्रयास एवं किसी भी प्रकार की त्रुटी हेतु क्षमा प्रार्थी।

Ram Ji ki sena chali Songs Lyrics rssworldwide.com
Image 1: Ram Ji ki Sena Chali Ravindra Jain Bhajan

श्री राम जी की सेना चली गीत लिरिक्स

पापियों के नाश को ऽ.ऽ.ऽ धर्मं के प्रकाश को ऽ.ऽ.ऽ

पापियों के नाश को, धर्मं के प्रकाश को।
राम जी की सेना चली, रामजी की सेना चली।। श्री राम जी की सेना चली, राम जी की सेना चली…

हर हर महादेव, हर हर महादेव…

पाप अनाचार में, घोर अन्धकार में।
एक नई ज्योति जली, श्री रामजी की सेना चली।।ध्रु.।। श्री रामजी की सेना चली…

हर हर महादेव, हर हर महादेव…

निश्चिर हीन करेंगे धरती, यह प्राण है श्रीराम का।
जब तक काम न पूरा होगा, नाम नही विश्राम का।।
उसे मिटानें चलें कि जिसका, मंत्र वयम रक्षाम का।।
समय आ चला निकट राम, और रावण के संग्राम का।।

तीन लोक धन्य हैं ऽ.ऽ.ऽ देवता प्रस्सन्न हैं ऽ.ऽ.ऽ

तीन लोक धन्य हैं, देवता प्रस्सन्न हैं।
आज मनोकामना फली, श्री रामजी की सेना चली।। श्री रामजी की सेना चली…।।1।।

हर हर महादेव, हर हर महादेव…

रामचन्द्र जी के संग लक्ष्मण कर में लेकर बाण चले।
लिए विजय विश्वास ह्रदय में, संग वीर हनुमान चले।।
सेना संग सुग्रीव, नील, नल, अंगद छाती तान चले।।
उसे बचाए कौन कि जिसका, वध कराने भगवान चले।।

आगे रघुनाथ हैं ऽ.ऽ.ऽ वीर साथ साथ हैं ऽ.ऽ.ऽ

आगे रघुनाथ हैं, वीर साथ-साथ हैं।
एक से एक बलि, श्री रामजी की सेना चली।। श्री रामजी की सेना चली…।।2।।

हर हर महादेव, हर हर महादेव…

नोटः संघ में प्रायः उपरोक्त अन्तरों के पश्चात गीत समाप्त कर दिया जाता हैं।

प्रभु लंका पर डेरा डाले, जब महासागर पार हो।
कब हो सफल अभियान हमारा, कब सपना साकार हो।।
पाप अनीति मिटे धरती से, धर्मं की जाय-जाय कार हो।।
कब हो विजयी राम हमारे, कब रावण की हार हो।।

राम जी से आस है ऽ.ऽ.ऽ राम पे विश्वास है ऽ.ऽ.ऽ

राम जी से आस है, राम पर विश्वास है।
राम जी करेंगे भली, श्री रामजी की सेना चली।।श्री रामजी की सेना चली…।।3।।

हर हर महादेव, हर हर महादेव
जय भवानी, जय भवानी, जय भवानी (समाप्त…)

विशेष:-

  • यह गीत ज्ञान गंगा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित संघ गीत पुस्तिका के 18वें संस्करण के क्रम संख्या. 37 पृष्ठ क्रमांक. 42 पर अंकित है। गीत की लय के लिए गीत गंगा की वेबसाइट पर भी विजिट कर सकते है।
  • संघ में होने वाले अनेक देश भक्ति गीत चन्दन है इस देश की माटी तपो भूमि हर ग्राम हैं व अन्य की जानकारी के लिए से RSS World Wide जुडे़ रहिए।

Ram Ji Sena Chali Song MP3 & Video Download Options

रविन्द्र जैन जी के द्वारा गाये गये रामायण धारावाहिक के अति सुन्दर भजन (Ravindra Jain Ramayan Songs) का विडियों आपकी सेवा में प्रस्तुत हैं। यहां आप इस विडियों को देख व सुन कर आनन्द प्राप्त कर सकते है तथा यूट्युब पर जाकर डाउनलोड भी कर सकते हैं।

वर्तमान समय में राम जी की सेना चली गीत के डीजे पर बजने वाले (Ram Ji ki sena chali dj song) एमपी3 व विडियों भी बहुत लोकप्रिय हो रहें हैं। कुछ व्यक्ति इस गीत का रिमिक्स साॅग भी बना कर डीजे पर बजाकर नृत्य करते हैं। ऐसा ही एक गीत आपके लिए उपलब्ध हैं।

हम करें राष्ट्र आराधन Patriotic Song Mp3, Hd Video With Lyrics

हम करें राष्ट्र आराधन, तन से मन से धन से…

हम करें राष्ट्र आराधन गीत बहुत समय पहले टी.वी चैनल पर प्रसारित होेने वाले धारावाहिक चाणक्य में जन-जागरण एंव युवकों में देश भक्ति का संचार करने के लिए उपयोग में लिया गया था।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में यह गीत विभिन्न अवसरों पर एवं सामान्य शाखा में गाया जाता हैं।

Ham Kare Rashtra Aaradhan Patriotic Song Lyrics Pdf rssworldwide.com
Image: Ham Kare Rashtra Aaradhan Songs Lyrics

संघ में विशेषतः इस गीत को गुरू पूजन के कार्यक्रम में पूजन के समय गाया जाता है इसलिए इस गीत को पूजन गीत भी कहते हैं।

तन, मन, धन और जीवन से राष्ट्र की सेवा करने की प्रेरणा इस पवित्र गीत से मिलती हैं।

श्री गुरू पूजन गीत (Ham Kare Rashtra Aaradhan RSS Song)

हम करें राष्ट्र आराधन, तन से मन से धन से।
तन-मन-धन जीवन से, हम करें राष्ट्र आराधन।।ध्रु।।

अन्तर से, मुख से, कृति से, निश्छल हो निर्मल मति से।
श्रद्धा से मस्तक नति से, हम करें राष्ट्र अभिवादन।।1।।
हम करें राष्ट्र आराधन…

अपने हंसते शैशव से, अपने खिलते यौवन से।
प्रौढ़ता पूर्ण जीवन से, हम करें राष्ट्र का अर्चन।।2।।
हम करें राष्ट्र आराधन…

अपने अतीत को पढ़कर, अपना इतिहास उलट कर।
अपना भवितव्य समझकर, हम करें राष्ट्र का चिन्तन।।3।।
हम करें राष्ट्र आराधन…

है याद हमें युग-युग की, जलती अनेक घटनायें।
जो माँ के सेवा पथ पर, आयी बनकर विपदायें।।

हमने अभिषेक किया था, जननी का अरिशोणित से।
हमने श्रृंगार किया था, माता का अरिमुण्डों से।।

हमने ही उसे दिया था, सांस्कृतिक उच्च सिंहासन।
माँ जिस पर बैठी सुख से, करती थी जग का शासन।।

अब काल चक्र की गति से वह टूट गया सिंहासन।
अपना तन-मन-धन देकर, हम करें पुनः संस्थापन।।4।।
हम करें राष्ट्र आराधन…

Hum Kare Rashtra Aradhan Youtube Video Song Free Download

चाणक्य सीरियल में प्रदर्शित हम करें राष्ट्र आराधन गीत का चलचित्र (वीडियो) प्रस्तुत हैं।

संघ में होने वाले गीत की लय इससे भिन्न है। संघ की लय अनुसार ‘‘हम करें राष्ट्र आराधन’’ गीत का वीडियो लिरिक्स के साथ प्रस्तुत हैं।

विशेष:-

  • यह गीत ज्ञान गंगा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित संघ गीत पुस्तिका के 18वें संस्करण के क्रम संख्या. 18 पृष्ठ क्रमांक. 22 पर अंकित है। गीत की लय के लिए गीत गंगा की वेबसाइट पर भी विजिट कर सकते है।
  • संघ में होने वाले अनेक देश भक्ति गीत चन्दन है इस देश की माटी तपो भूमि हर ग्राम हैं व अन्य की जानकारी के लिए से RSS World Wide जुडे़ रहिए।

चन्दन है इस देश की माटी Song Lyrics In Hindi & English (Download)

चन्दन है इस देश की माटी, तपो भूमि हर ग्राम है… गीत

Chandan Hai is Desh ki Mati Poem in Hindi

चन्दन है इस देश की माटी, तपो भूमि हर ग्राम है।
हर बाला देवी की प्रतिमा, बच्चा-बच्चा राम है।।ध्रु.।।

हर शरीर मंदिर सा पावन, हर मानव उपकारी है
जहाँ सिंह बन गये खिलौने, गाय जहाँ माँ प्यारी है
जहाँ सवेरा शंख बजाता, लोरी गाती शाम है।।1।। हर बाला देवी की प्रतिमा…




जहाँ कर्म से भाग्य बदलते, श्रमनिष्ठा कल्याणी है
त्याग और तप की गाथायें, गाती कवि की वाणी है
ज्ञान जहाँ का गंगाजल सा, निर्मल है अविराम है।।2।। हर बाला देवी की प्रतिमा…

इसके सैनिक समरभूमि में गाया करते गीता हैं,
जहाँ खेत में हल के नीचे, खेला करती सीता है,
जीवन का आदर्श यहाँ पर, परमेश्वर का धाम है।।3।। हर बाला देवी की प्रतिमा…

चन्दन है इस देश की माटी, तपो भूमि हर ग्राम है।
हर बाला देवी की प्रतिमा, बच्चा-बच्चा राम है…।।समाप्त।।

विशेष
  • यह गीत ज्ञान गंगा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित संघ गीत पुस्तिका के 18वें संस्करण के क्रम संख्या- 2 पृष्ठ क्रमांक- 6 पर अंकित है। गीत की लय के लिए गीत गंगा की वेब साइट पर भी विजिट कर सकते है।

Chandan Hai is Desh Ki Mati Video Download

इस देशभक्ति से ओत प्रोत संघ की शाखाओं पर होने वाले गीत से बाल, तरूण और वृद्ध सभी को प्रेरणा मिलती हैं। चन्दन है इस देश की माटी गीत का अत्यन्त सुन्दर विडियो देखने व डाउनलोड़ करने के लिए निचे दिये गये विडियों पर क्लिक करें :-

Chandan Hai is Desh Ki Mati Lyrics in English

Chandan Hai is Desh Ki Mati, Tapo Bhoomi Har Gram hai…
Har Bala Devi Ki Pratima, Bachha Bachha Ram Hai…[Dhruv]

Har Sharir Mandir Sa Pawan, Har Manav Upkari Hai…
Jahan Singh Ban Gaye Khilone, Gayi Jahan Maa Pyari Hai…
Jahan Savera Shankh Bajata, Lori Gati Sham Hai..[1] Har Bala Devi Ki Pratima…

Jahan Karm Se Bhagya Badalte, Shramnishtha Kalyani hai…
Tyag Aur Tap Ki Gathayen, Gaati Kavi Ki Vaani Hai…
Gyan Jahan Ka Ganga Jal Sa, Nirmal Hai Aviram Hai [2] Har Bala Devi Ki Pratima…

Iske Sainik SamarBhoomi Me Gaya Karte Geeta Hai…
Jahan Khet Me Hal Ke Niche, Khela Karti Seeta Hai…
Jeevan Ka Aadarsh Yahan Par, Parmeshvar Ka Dhaam Hai [3] Har Bala Devi Ki Pratima…

Chandan Hai is Desh Ki Mati, Tapo Bhoomi Har Gram hai…
Har Bala Devi Ki Pratima, Bachha Bachha Ram Hai…[THE END]

Chandan Hai Is Desh ki Mitti pdf
Note
  • To RSS Desh Bhakti Geet Chandan hai is desh ki mati tapobhumi har gram mp3 song free download we will provide you an HD quality mp3 download link as soon as possible.
ऐसे और अच्छे-अच्छे गीतों की जानकारी के लिए जुडे़ रहिये RSS WORLD WIDE .COM से धन्यवाद...

हिन्दु युवकों आज का युगधर्म Geet Lyrics – Hindu Song Mp3 Download

Hindu Yuvko Aaj Ka Yugdharma – Sangh Geet (Kavya Geet Laya)

 

हिन्दु युवकों आज का युगधर्म
हिन्दु युवकों आज का युगधर्म शक्ति उपासना है ।।ध्रु.।।

बस बहुत अब हो चुकी है शांति की चर्चा यहाँ पर,
हो चुकी अति ही अहिंसा-तत्व की अर्चा यहाँ पर,
ये मधुर सिद्धांत रक्षा देश की पर कर ना पाये,
ऐतिहासिक सत्य है, यह सत्य अब पहिचानना है ।।1।। हिन्दु युवकों…

हम चले थे विश्व भर को, शांति का सन्देश देने,
किन्तु जिसको बन्धु समझा, आ गया वह प्राण लेने,
शक्ति की हमने उपेक्षा, की उसी का दण्ड पाया,
यह प्रकृति का ही नियम है अब हमें यह जानना है ।।2।। हिन्दु युवकों…

जग नहीं सुनता कभी दुर्बल जनों का शांति प्रवचन,
सिर झुकाता है उसे जो, कर सके रिपु मान मर्दन,
हृदय में हो प्रेम लेकिन, शक्ति भी कर में प्रबल हो,
यह सफलता मन्त्र है करना इसी की साधना है ।।3।। हिन्दु युवकों…

यह न भूलो इस जगत में सब नहीं है संत मानव,
व्यक्ति भी है राष्ट्र भी है जो प्रकृति के घोर दानव,
दुष्ट-दानव दमनकारी शक्ति का संचय करें हम,
आज पीड़ित मातृ-भूमि की बस यही आराधना है ।।4।। हिन्दु युवकों…

 

 

हिन्दू साम्राज्य दिवस पर इस गीत को काव्य गीत के रूप में उपयोग किया जा सकता है। यह गीत ज्ञान गंगा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित संघ गीत पुस्तिका के 18वें संस्करण के 53 क्रमांक पर पृष्ठ संख्या 62 पर अंकित है। गीत की लय के लिए गीतगंगा की वेब साइट पर भी विजिट कर सकते है।

 

 

rss sangh holi geet

rss sangh holi geet
थे खेलों लाल गुलाल, होली नित आवे।
थे चलो प्रेम री चाल, होली नित आवे।
कीचड़ माटी थे न उड़ाओं, भेदभाव ने दूर भगाओं।
बणो देश रा लाल, होली नित आवे ।।1।। थे खेलों लाल गुलाल…

प्रेम ज्ञान री भर पिचकारी, होली होली खेलो देश पुजारी।
हो जावैं देश निहाल, होली नित आवे ।।2।। थे खेलों लाल गुलाल….

चन्द्रगुप्त बांको मतवालो, कर्या सिकन्दर को मुंह कालो।
एहड़ी चालो चाल, होली नित आवे ।।3।। थे खेलों लाल गुलाल….

होली खेली लक्ष्मी बाई, गोरा ने बा खड़ग दिखाई।
उठो जवानों आज, होली नित आवे।।4।। थे खेलों लाल गुलाल….

देश पे देणी है कुर्बानी, भगत सिंह का बन अनुगामी।
तरूण, वृद्ध और बाल, होली नित आवे।।5।। थे खेलों लाल गुलाल…

गांव नगर में शाखा लगाओ, सोई हिन्दू शक्ति जगाओं।
अब जननी करे पुकार, होली नित आवे।।6।। थे खेलों लाल गुलाल…

holi song ले पीली लाल गुलाल

Holi song | Holi geet | Holi Rss Geet | Holi Rss Song | Holi Rss Sangh Geet

ले पीली लाल गुलाल सभी आ जाना। होली का रंग जमाना।
कश्मीर प्रान्त से रामेश्वर तक के, सब बन्धु आ जाओ।
बर्मा से सिंधु घाटी तक, सब एक रंग में रंग जाओ।
सदियों से खोई मस्ती को फिर लाना। होली का रंग जमाना…
गंगा यमुना के फव्वारें, लो प्रेम रंग बरसाते हैं।
विन्ध्याचल सतपुड़ा, पर्वत सुन्दर उपवन दर्शाते हैं।
सरसों के पीले खेतों में रम जाना। होली का रंग जमाना…
राणा की होली की टोली, अकबर की नींव करी पोली।
शिवराज मराठो की गोली, औरंग के सीने में बोली।
दुष्टों का जग से बिल्कुल नाम मिटाना होली का रंग जमाना……….
केशव ने शंखनाद करके, हिन्दुओं का संघ चलाया है।
शाखा में आओ भाई सब, संगठन का पाठ पढ़ाया है।
भारत माता की सेवा में लग जाना। होली का रंग जमाना…

holi geet

ये शहीदों की जयहिन्द बोली, ऐसी वैसी ये बोली नहीं है
इनके माथें पे खून का टीका, देखो देखो ये रोली नहीं है ||ध्रु ||
सर कटाऊँ जवानों को लेकर, चल पड़े वह हमीरा के आगे
हम है संतान राणा शिवा की, कायरों की ये टोली नहीं है।।1।।
चल दिया जब जवाँ हँसते-हँसते, माँ की ममता तड़प् करके बोली,
आओ सो जाओ लाल मेरी गोद में, अब तेरे पास गोली नहीं है।।2।।
अब विदा जाने वाले शहीदों, खून की सुर्ख पगड़ी पहनकर,
खून की आज बौछार देखी, आज रंगों की होली नहीं है ।।3।।
संघ पर आंख दिखाने वाले, भस्म हो जायेंगे सारे दुश्मन,
ये भला है कि अब तक हमने, तीसरी आँख खोली नहीं हैं।।